in ,

Career in Fashion Designing in India

कैसे बनें फैशन डिज़ाइनर ?

वर्तमान में कपड़ों का बाजार, फैशन और एक्सपोर्ट हाउस की Progress ने करियर में एक नया आयाम जोड़ा है, जिसका नाम Fashion Designing है। यह एक Creative तथा Glamorous Business है। आज हमारे देश India में जगह-जगह Fashion Shows के आयोजन हो रहे हैं और बहुत से प्रतिष्ठित लोगों के नाम इस Business से जुड़ गए हैं। जो लोग Creative Fashion के प्रति रुचि रखते हैं, उनके लिए Fashion Designing एक बहुत अच्छा व्यवसाय हो सकता है। इस Business में प्रतिष्ठा के साथ साथ Income भी बहुत है। Creative Courses की पिछली पोस्ट्स में आपको

Jwellery Designing तथा Interior Designing के बारे में बताया गया था, आज हम बताएँगे Fashion Designing Course के बारे में।

एक Fashion Designer का काम होता है Dresses को नए-नए Designs प्रदान करना तथा Market में लोगों की पसंद-नापसंद को देखते हुए Best Fashion Designs बनाना।

फैशन डिज़ाइनर कैसे बनें ? | How to become a Fashion Designer?

एक Successful Fashion Designer बनने के लिए आपको Drawing, Sewing, Designing, Fashion Industry आदि की जानकारी होनी चाहिए। आपको Market में Fashion के बारे में पता होना चाहिए। इस Post में मैं आपको Fashion Designer बनने से सम्बंधित Information दे रहा हूँ। जिसके बाद आप नीचे बताये किसी प्रतिष्ठित संस्थान से Course कर इसे अपना Profession बना सकते हैं। यदि आपको Textile , Pattern, Colours, Texture आदि की अच्छी Knowledge हो तो Fashion Designing Career को आप बेहिचक अपना सकते हैं।

फैशन डिज़ाइनिंग मे Colours के Combination और कपड़े के आधार पर उसकी बुनाई का बड़ा महत्त्व है। फैशन कभी भी स्थाई नही होता है, बदलते समय में इसमें Changes होते रहते हैं। इसमें मौसम के अनुसार भी बदलाव होते रहते हैं। उदाहरण के लिए सर्दी के मौसम मे आपको उसी के अनुरूप रंग और फैब्रिक देखने को मिलेगा, और गर्मियों में गर्मी के अनुरूप।

अगर आप Fashion Designing में अपना Career बनाना चाहते हैं तो आपको 10th या 12th से ही खुद को तैयार कर लेना चाहिए। इस क्षेत्र से सम्बंधित कुछ Courses में Minimum योग्यता 10th तथा कुछ में 12th है। ये कम्पलीट करने के बाद ही आपको प्रतिष्ठित संस्थानों में प्रवेश मिल सकेगा। निफ्ट जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों प्रवेश के लिए Entrance Exam भी पास करना होता है जिसके Syllabus में गणित, व अंग्रेजी की Basic Knowledge तथा Drawing शामिल हैं।

Fashion Designing से सम्बंधित Diploma Courses इस प्रकार हैं –

Designing – यह तीन साल का पाठ्यक्रम होता है, जिसके लिए 12 वीं में कम से कम 50% अंक होना अनिवार्य है। यह कोर्स करने के बाद किसी भी एक्सपोर्ट हाउस में Fashion designer, fashion coordinator, quality controller, fashion merchandiser आदि के पदों पर काम किया जा सकता है। इसी कोर्स के अंतर्गत कॉस्ट्यूम, ज्वेलरी एवं चमड़े का समान बनाना भी सिखाया जाता है। स्वतंत्र रूप से भी कार्य करके इस क्षेत्र में अच्छी Income की जा सकती है।

Fashion Designing– यह 3 साल का डिप्लोमा कोर्स होता है। इसमें प्रवेश के लिए बारहवीं में कम से कम 50% अंक होना जरुरी है। अनुसूचित जाति एवं जनजाति के छात्रों के लिए 5% अंकों की छूट होती है। उसके बाद मेरिट के आधार पर इसमें प्रवेश होता है। यह Course करने के बाद Fashion designer, pattern maker,stylist, fashion coordinator, fashion Illustrator आदि के रूप में नौकरी या Freelance व्यवसाय किया जा सकता है।

Marketing and Merchandising यह डिप्लोमा कोर्स 2 साल का होता है जिसमें वस्त्र व्यवसाय की बारीकियां समझाई जाती है। इसे Complete करने के बाद औद्योगिक प्रतिष्ठानों में Fashion Technologist की नौकरी मिल सकती है। इस कोर्स के दूसरे वर्ष के दौरान ही प्रशिक्षणार्थी को बड़ी कंपनियां इंटरव्यू के लिए आमंत्रित करना शुरु कर देती है।

Garment Manufacturing -यह 2 साल का डिप्लोमा कोर्स होता है। इसमें वस्त्र उत्पादन संबंधी कौशल सिखाया जाता है। इसके लिए स्नातक की डिग्री होना अनिवार्य है।

Leather Garment Design and Technology – यह 2 साल का डिप्लोमा कोर्स है। इसमें प्रवेश लेने के लिए स्नातक की डिग्री आवश्यक है। यह डिप्लोमा Complete करने के बाद Stylist leather designer के रूप में नौकरी या Freelance व्यवसाय किया जा सकता है।

Knitwear Design and Technology – यह 2 साल का डिप्लोमा कोर्स है। इसके लिए स्नातक की डिग्री होना आवश्यक है।

Textile Design and Development – यह 2 साल का डिप्लोमा कोर्स है। इसके लिए स्नातक की डिग्री होना आवश्यक है। इसमें कपड़ों की प्रिंटिंग एवं सिखाई जाती है।

Accessories Designing– इस पाठ्यक्रम में जूते, हाथ के बैग, बेल्ट, पर्स, स्कार्फ, आभूषण व घड़ियों इत्यादि की Designing सिखाई जाती है।

Course करने के बाद कैसे बन सकता है करियर ?

अब हम आपको बताते हैं इस फैशन डिजाइनिंग में डिप्लोमा पूर्ण करने के बाद आप कौन कौन से कार्य कर सकते हैं –

  • किसी कपड़ों की कंपनी या फैशन हाउस में फैशन डिज़ाइनर का कार्य कर सकते हैं,
  • अपने द्वारा बनाए और डिजाइन किए गए कपड़ों की प्रदर्शनी और बिक्री कर सकते हैं,
  • आप स्वयं द्वारा बनाए गए और डिजाइन के कपड़ों का आयात और निर्यात कर सकते हैं,
  • अपना बुटीक खोल सकते हैं,
  • फिल्म, TV या थिएटर आदि के लिए Costume Designer का कार्य कर सकते हैं,
  • आप फ्रीलांस अलग-अलग कंपनियों के लिए डिजाइनिंग का काम कर सकते हैं,
  • या आप हॉबी क्लासेज शुरू कर सकते हैं।

Fashion Designing Course Fees –

फैशन डिजाइनिंग के कोर्स की फीस इस बात पर depend करती है कि आप कौनसा Programme चुनते हैं तथा किस Institute अथवा College में दाखिला लेते हैं। वैसे इसकी फीस लगभग 50,000 रुपये वार्षिक है। Institute व Course के according यह घट-बढ़ सकती है।

Fashion Designer की Income / Salary –

एक बार कोर्स Complete करने के बाद जब आप फ्रेशर होते हैं तब किसी कम्पनी में जॉब करने पर आपकी शुरुआत लगभग 15,000 से शुरू हो सकती है। इसके बाद अनुभव के आधार पर यह 50,000 अथवा उससे भी अधिक हो सकती है। पर्याप्त अनुभव पाने के बाद जब आप स्वयं का Business करते हैं तो आप अच्छी Income कर सकते हैं। Salary या Income की बढ़त आपकी योग्यता पर निर्भर करती है। यदि आप एक अच्छे designer बन जाते हैं तो आप हर माह लाखों रुपये कमा सकते हैं।

Fashion Designing Institutes and Colleges तथा Courses

ज्यादा जानकारी के लिए और कोर्स करने के लिए Automax studios कि साईट पर जाये !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bajaj To Bring Its First Electric Scooter On October 16.

Career in Interior Designing in India